पहली बार भुगतान के साथ वैक्सीनेशन, देखिए क्या है प्रक्रिया और कैसा रहा अनुभव

पहली बार भुगतान के साथ वैक्सीनेशन, देखिए क्या है प्रक्रिया और कैसा रहा अनुभव

Published on: 01/03/2021

बुर्जुगों और गम्भीर बीमारी से गर्सित लोगों के वैक्सीनेशन के साथ, आज से आम लोगों को वैक्सीन का लाभ मिलने लगा है. पहले दिन कैसा रहा लोगों का अनुभव और क्या रही पूरी प्रक्रिया यह जानने के लिए ईटीवी भारत पहुंचा दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल तीरथ राम हॉस्पिटल में…

60 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों और 45 साल से ज्यादा उम्र के गम्भीर बीमारी से पीड़ित लोगों के वैक्सीनेशन को लेकर सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार, सिविल लाइंस के तीरथ राम अस्पताल में व्यवस्था है. तीसरे चरण के वैक्सीनेशन की शुरुआत के पहले दिन व्यवस्था का जयाजा लेने के लिए यहां स्थानीय एसडीएम भी पहुंचे थे, वहीं अस्पताल प्रशासन की भी पूरी मुस्तैदी दिखी.

व्यवस्था निरीक्षण के लिए पहुंचे एसडीएम

एसडीएम राजेश चौधरी ने ईटीवी भारत से बातचीत में कहा कि हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि इंतजाम में कोई कमी नहीं रहे और वैक्सीन लेने आ रहे बुजुर्गों को कोई दिक्कत न हो. वहीं, तीरथ राम अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ जेपी सिंह ने ईटीवी भारत से बातचीत में रजिस्ट्रेशन से लेकर वैक्सीनेशन और ऑब्जर्वेशन तक की पूरी प्रक्रिया की जानकारी दी.

covid-vaccination1

ऐसा रहा लाभार्थियों का अनुभव

यहां वैक्सीनेशन के लिए आए लोगों से भी इटीवी भारत ने बातचीत की. 48 वर्षीय कमलेश कुमार मिश्र और 65 वर्षीय डॉ अशोक गुप्ता खुद से रजिस्ट्रेशन कराकर अपने टाइम स्लॉट के हिसाब से यहां पहुंचे थे. चूंकि यह एक प्राइवेट अस्पताल है, इसलिए सभी लोगों ने 250 रुपए का भुगतान करके वैक्सीन लिया. वैक्सीन ले रहे 75 वर्षीय डॉ हस्ती ने कहा कि अब फिक्र दूर हो गई.

दूर हो रहा वैक्सीनेशन के प्रति डर

वैक्सीनेशन के बाद 30 मिनट का ऑब्जर्वेशन पीरियड अनिवार्य है. ऑवजर्वेशन एरिया में डॉक्टर्स की मॉनिटरिंग में बैठीं 63 वर्षीय डॉ. मीना ने कहा कि हमें कोई दिक्कत नहीं हुई, यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है. अस्पताल की डिप्टी एमएस डॉ. शिल्पा पण्डिता ने बताया कि वैक्सीन के प्रति लोगों के मन में जो डर था, वो अब दूर हो रहा है.

News Source 

Share this post